एशिया पृथ्वी का सबसे बड़ा महाद्वीप| ASIA THE BIGGEST CONTINENT OF THE WORLD

स्वागत है दोस्तों आपका हमारी और आपकी अपनी वेबसाइट www.aurjaniy.com पर यहाँ हम आपको देते हैं सबसे अच्छा सिविल सर्विस सामान्य अध्ययन मटेरियल हिंदी में सबसे अच्छी किताबों और स्त्रोतों से और आजके इस ब्लॉग में हम जानेंगे

औरजानिये। Aurjaniye

एशिया पृथ्वी का सबसे बड़ा महाद्वीप है, जो विश्व के लगभग 30 % क्षेत्रफल पर विस्तृत है , 

यह आकार और जनसंख्या दोनों की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप है । 

इसका क्षेत्रफल 4,45,79,000 वर्ग किमी . है । 

भारतीय पौराणिक साहित्यों में एशिया के विभिन्न भागों के कुछ और नाम भी है 

aurjaniy.com
Asia

जैसे – 

  1. जम्बूद्वीप – मध्यभूमि ( भारतीय उपमहाद्वीप ) , 
  2. पुष्कर द्वीप उत्तर – पूर्वी प्रदेश ( लाओस , कम्बोडिया आदि ) , 
  3. शाकद्वीप दक्षिण – पूर्वी द्वीप समूह । 
aurjaniy.com

कुछ दक्षिणी द्वीपों को छोड़कर प्रायः उत्तरी गोलार्द्ध में ही स्थित है , 

जिससे होकर तीन प्रमुख अक्षांशीय वृत्त 

  • विषुवत, 
  • कर्क और 
  • आर्कटिक गुजरते हैं ।

एशिया के दक्षिण में 

  • हिन्द महासागर, 
  • उत्तर में आर्कटिक महासागर और 
  • पूर्व में प्रशान्त महासागर हैं । 

पश्चिम में यूराल पर्वत , कैस्पियन सागर , काला सागर व भूमध्यसागर एशिया और यूरोप की सीमा बनाते हैं । 

  • लाल सागर और स्वेज नहर एशिया को अफ्रीका से अलग करती है । 
  • बेरिंग जलसंधि द्वारा यह उत्तरी अमेरिका से अलग होती है । 

एशिया के प्रमुख देश

  1. मंगोलिया , 
  2. नेपाल , 
  3. भूटान , 
  4. तुर्कमेनिस्तान , 
  5. उज्बेकिस्तान , 
  6. किर्गिज़स्तान , 
  7. तजाकिस्तान , 
  8. कज़ाख्स्तान , 
  9. अफगानिस्तान , 
  10. लाओस आदि स्थलरूद्ध देश हैं , अर्थात् उनकी सीमा समुद्र को नहीं छूती है । 

स्थलरुद्ध देशों में क्षेत्रफल के आधार कजाख्स्तान सबसे बड़ा तथा मंगोलिया का दूसरा स्थान है । 

एशिया महाद्वीप में अति प्राचीन युग के स्थलखंड अंगारालैंड ( रूस व चीन ) और गोंडवानालैंड ( प्रायद्वीपीय भारत ) स्थित हैं । 

एशिया महाद्वीप में तीन प्रमुख प्रायद्वीप हैं- 

  1. अरब का प्रायद्वीप , 
  2. दक्कन का प्रायद्वीप व 
  3. इंडोचीन का प्रायद्वीप । 

अरब प्रायद्वीप विश्व का सबसे बड़ा प्रायद्वीप है । इंडोनेशिया और उसके आस – पास के द्वीप को पूर्वी द्वीपसमूह ( East Indies ) कहते हैं । 

दक्षिणी – पूर्वी और पूर्वी एशिया के ये द्वीपसमूह धनुषाकार आकृति में फैले हुए हैं । इनमें अंडमान – निकोबार , इंडोनेशिया , फिलीपींस और जापान के द्वीप समूह प्रमुख हैं । फिलीपींस द्वीपसमूह के समीप 

  • विश्व का सबसे गहरा सागरीय गर्त मैरियाना गर्त ( 11034 मी . ) है , जो प्रशान्त महासागर में स्थित है । 
  • मध्य एशिया में स्थित पामीर गाँठ को विश्व की छत कहते हैं । 

इससे विभिन्न दिशाओं कई पर्वत श्रेणियाँ निकलती हैं । 
  • इसके पश्चिम में हिन्दुकुश और जाग्रोस पर्वत हैं 
  • जबकि पूर्व में हिमालय , काराकोरम , क्युनलुन और तिएनशान ( थ्यानशान ) पर्वत की अवस्थिति है । 
  • हिमालय और कुनलुन के बीच विश्व का सबसे ऊँचा पठार तिब्बत का पठार अवस्थित हैं । 
  • ईरान के पठार को एल्बुर्ज और जाग्रोस पर्वत श्रृंखलाएँ घेरे हुए हैं । 
  • अनातोलिया का पठार ( टर्की ) पॉण्टिक और टॉरस पर्वत श्रेणियों के मध्य स्थित है । 
  • गोबी का पठार विशाल ठंडा मरुस्थल है ।
  •  रूस के एशियाई भाग को साइबेरिया कहा जाता हैं । 
  • यहाँ ओब , येनेसी और लीना जैसी प्रमुख नदियाँ बहती हैं । 
  • ये तीनों नदियाँ आर्कटिक महासागर में गिरती हैं । 
  • विश्व की सबसे गहरी झील बैकाल ( गहराई- 1741 मीटर ) साइबेरिया में स्थित है । 
  • जबकि सबसे बड़ी झील कैस्पियन सागर ( क्षेत्रफल ,71,000 वर्ग किमी . ) 
  • यूरोप और एशिया की सीमा बनाती है । 
  • एशिया का सबसे गर्म स्थान तिरत जवी ( इजराइल ) एवं 
  • सबसे ठंडा स्थान बोयांस्क ( साइबेरिया ) है , जहाँ तापमान क्रमश : 54 ° C और -45 ° C मिलता है । 
  • बर्खायास्क को पृथ्वी का शीत ध्रुव भी कहते हैं । 
  • एशिया में खाद्यान्न की प्रमुख फसलें चावल , गेहूँ , मक्का , ज्वार – बाजरा और रागी हैं , 
  • जबकि प्रमुख नकदी फसलों के अंतर्गत चाय , गन्ना , जूट , कपास , रबड़ और तंबाकू आते हैं । 

विश्व का 92 % चावल एशिया में ही उत्पादित किया जाता है । 

  • चीन, 
  • भारत, 
  • बांग्लादेश, 
  • जापान और 
  • दक्षिण – पूर्व एशियाई देश चावल के प्रमुख उत्पादक हैं । 

गेहूँ की खेती 

  • साइबेरिया, 
  • चीन, 
  • भारत के उत्तरी मैदान, 
  • पाकिस्तान और 
  • दक्षिण – पश्चिम एशियाई देशों में होती है । 

एशिया में चाय की खेती मुख्यतः 

  • भारत, 
  • श्रीलंका, 
  • चीन, 
  • जापान 
  • और इंडोनेशिया के पर्वतीय ढालों पर की जाती है । 

गन्ने की खेती 

  • भारत, 
  • चीन, 
  • फिलीपींस, 
  • थाईलैंड, 
  • पाकिस्तान 
  • और इंडोनेशिया में की जाती है । 

जूट ( पटसन ) उत्पादन का एकाधिकार 

  • गंगा – ब्रह्मपुत्र डेल्टा प्रदेश ( बांग्लादेश और भारत ) को है । 

कपास के प्रमुख उत्पादक देश 

  • चीन, 
  • भारत और 
  • पाकिस्तान हैं । 

रबड़ उत्पादन में 

  • थाईलैंड विश्व में प्रथम स्थान रखता है । 
  • रबड़ की खेती के अन्य उत्पादक देश इंडोनेशिय, 
  • मलेशिया और 
  • भारत ( नीलगिरि क्षेत्र ) हैं । 

एशिया में तंबाकू के प्रमुख उत्पादक देश 

  • चीन, 
  • भारत, 
  • जापान और 
  • टर्की हैं । 

 

एशिया की नदियों को सभ्यता का पालना एवं एशिया महाद्वीप को सभी धर्मों की आद्यभूमि कहा जाता है । 

aurjaniye aurjaniy.com 

यहाँ की दजला – फ़रात नदियों की घाटी में मेसोपोटामिया की सभ्यता एवं सिंधु नदी घाटी क्षेत्र में हड़प्पा सभ्यता का जन्म हुआ था । 
  • हिन्दू , 
  • बौद्ध , 
  • जैन, 
  • मुस्लिम, 
  • ईसाई, 
  • यहूदी, 
  • पारसी, 
  • जरथुष्ट, 
  • कन्फ्यूशियस, 
  • शिन्टो आदि सभी धर्मों की उद्भव भूमि एशिया ही है । 

एशिया में यातायात मार्गों का जाल सा बिछा हुआ है । 

  • विश्व की सबसे ऊँची रेलवे लाइन का निर्माण चीन द्वारा किया गया है । 
  • उत्तर – पश्चिम चीन के हांगझाऊ प्रांत से शुरू होकर तिब्बत के ल्हासा तक विस्तृत इस रेलवे लाइन की ऊँचाई 4,500 मी . है । 
  • एशिया में ही विश्व का सबसे लंबा प्लेटफार्म ( 1366 मी . ) गोरखपुर ( उत्तर प्रदेश ) तथा 
  • सबसे लंबा रेलमार्ग ( 9,232 किमी . ) ट्रांस – साइबेरियन रेलमार्ग स्थित है । 

25 मई , 2017 को एशिया – अफ्रीका विकास गलियारे ( Asia – Africa Growth Corridor : AAGC ) की शुरूआत की गयी । 

  • इसका उद्देश्य – अफ्रीका में गुणवत्तापूर्ण आधारभूत संरचना का विकास करना है जो डिजिटल संपर्क से युक्त हो । 
  • इस परियोजना के अन्तर्गत भारत और जापान एक साथ मिलकर अफ्रीका , ईरान , श्रीलंका और दक्षिण पूर्व एशिया में उनके बुनियादी ढाँचा परियोजनाओं पर काम करेगें । 
  • भारत की इस पहल को चीन की महत्वाकांक्षी योजना वन बेल्ट वन रोड ( OBOR ) प्रोजेक्ट को प्रतिउत्तर देने के तौर पर देखा जा रहा  

तो दोस्तों अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो हमें कमेंट करके जरुर बतायें , और इसे शेयर भी जरुर करें।

RELATED POSTS



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *