मिशन इनोवेशन 2.0 | MISSION INNOVATION 2.0

स्वागत है दोस्तों आपका हमारी और आपकी अपनी वेबसाइट www.aurjaniy.com पर यहाँ हम आपको देते हैं सबसे अच्छा सिविल सर्विस सामान्य अध्ययन मटेरियल हिंदी में सबसे अच्छी किताबों और स्त्रोतों से और आजके इस ब्लॉग में हम जानेंगे

औरजानिये। Aurjaniye

 

हाल ही में केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ( Union Minister of Science & Technology ) ने मिशन इनोवेशन ( Mission Innovation – MI ) के दूसरे चरण की शुरुआत की है ।

प्रमुख बिंदु .MAIN POINTS OF MISSION INNOVATION

इस – मिशन इनोवेशन स्वच्छ ऊर्जा नवाचार में तेजी लाने की दिशा में वैश्विक पहल है । 

भारत मिशन इनोवेशन के संस्थापक देशों में से एक है जो मिशन इनोवेशन के माध्यम से अपनी ऊर्जा नवाचार गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है । – 

भारत वर्ष 2023 में मिशन नवाचार की 8 वीं मंत्रिस्तरीय बैठक की मेजबानी करेगा । 

xxx

मिशन इनोवेशन -MISSION INNOVATION

मिशन इनोवेशन की घोषणा 30 नवंबर , 2015 को पेरिस में जलवायु परिवर्तन से निपटने की दिशा में आयोजित COP 21 की बैठक के दौरान की गई थी । – 

इसमें भारत सहित 24 देश और यूरोपीय आयोग ( यूरोपीय संघ की ओर से ) शामिल हैं । – 

सभी सदस्यों द्वारा चयनित प्राथमिक क्षेत्रों में पाँच वर्षों में अपने स्वच्छ ऊर्जा नवाचार निवेश को दोगुना करने की प्रतिबद्धता व्यक्त गई है । . 

सभी देश नवाचार की दिशा में वर्तमान प्रयासों तथा नए प्रकार के नवाचारों हेतु आवश्यक प्रयासों के मौजूदा अंतराल और नवीन अवसरों की पहचान करने की दिशा में प्रौद्योगिकी नवाचार रोडमैप तैयार करें । – 

वार्षिक आधार पर देशों द्वारा स्वच्छ ऊर्जा हेतु आरडी एंड डी प्रयासों पर पारदर्शी , आसानी से सुलभ जानकारी प्रदान करें । – 

स्वच्छ ऊर्जा की दिशा में सरकारी कार्यक्रमों में सभी देश निजी क्षेत्र प्रतिबद्धता के साथ मिलकर कार्य करें । 

मिशन इनोवेशन एक्शन प्लान MISSION INNOVATION ACTION PLAN HINDI

बीजिंग में दूसरे मंत्रिस्तरीय मिशन इनोवेशन सम्मेलन में ‘ मिशन इनोवेशन एक्शन प्लान ‘ को लॉन्च किया गया जिसमें चार लक्ष्यों को निर्धारित मिशन इनोवेशन एक्शन प्लान किया गया ।

इनमें शामिल हैं . India Innovation Index 2021

सार्वजनिक क्षेत्र के निवेश को संतोषजनक स्तर तक बढ़ाना : . 

निजी क्षेत्र की संलग्नता और निवेश में वृद्धि करना ; 

अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ाना ; नवाचार की परिवर्तनकारी क्षमता के बारे में जागरूकता बढ़ाना । 

इनोवेशन चैलेंजेज ( INNOVATION CHALLENGES )

  • मिशन नवाचार के तहत 8 नवाचार चुनौतियों को निर्धारित किया गया है । 

मिशन इनोवेशन 2.0 -MISSION INNOVATION

MI23 सितंबर , 2020 को सऊदी अरब की मेजबानी में आयोजित 5 वीं मंत्रिस्तरीय मिशन इनोवेशन बैठक में नवाचार में तेजी लाने के साझा लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये एक अन्य चरण ( 2.0 ) को विकसित करने हेतु सहमति व्यक्त की गई । . 

इस चरण में शामिल हैं : 

  1. वैश्विक स्वच्छ ऊर्जा नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने और सीखने में तेजी लाने के लिये वर्तमान गतिविधियों पर एक उन्नत नवाचार मंच का निर्माण करना । 
  2. नया सार्वजनिक – निजी नवाचार गठजोड़ वाले मिशन की दिशा में बढ़ना ताकि स्वैच्छिक प्रतिबद्धताओं द्वारा समर्थित महत्त्वाकांक्षी और प्रेरणादायक लक्ष्यों को आसानी से प्राप्त किया जा सके । 
  3. भारत सरकार की पहल स्वच्छ ऊर्जा अंतर्राष्ट्रीय इन्क्यूबेशन केंद्रः स्टार्ट – अप नवाचार के अनुकूल पारिस्थितिकी का निर्माण करने के लिये जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा सार्वजनिक – 

निजी भागीदारी मॉडल के तहत ‘ स्वच्छ ऊर्जा अंतर्राष्ट्रीय इन्क्यूबेशन केंद्र ‘ ( Clean Energy International Incubation Centre ) की स्थापना की गई है । –

ग्लोबल कूलिंग प्राइजः GLOBAL COOLING PRIZES

रॉकी माउंटेन इंस्टीट्यूट ( RMI ) तथा भारत सरकार ने मिशन इनोवेशन के तहत इस अंतर्राष्ट्रीय नवाचार प्रतियोगिता को प्रारंभ किया है । यह घरों के लिये जलवायु अनुकूल आवासीय शीतलन समाधान करने की दिशा में एक पहल है । 

राष्ट्रीय सौर मिशनः NATIONAL SOLAR MISSION

भारत का उद्देश्य वर्ष 2030 तक अक्षय ऊर्जा क्षेत्र 450 गीगावाट विद्युत उत्पादन का महत्त्वाकांक्षी लक्ष्य प्राप्त करना है । 
भारत को राष्ट्रीय सौर मिशन से अपनी सौर क्षमता बढ़ाने  में मदद मिली है ।  


राष्ट्रीय जैव ईंधन नीति : NATIONAL FOSSILE FUEL POLICY

भारत सरकार ने अपनी नवीन राष्ट्रीय जैव ईधन नीति , 2018 को जारी किया है । 

इसके अलावा ‘ प्रधानमंत्री जीवन योजना ‘ ( Pradhan Mantri JI – VAN Yojana ) को मंजूरी दी है ताकि एकीकृत जैव – इथेनॉल परियोजनाओं को वित्तीय सहायता प्रदान की जा सके । भारत में जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा समर्थित जैव इंधन में उत्कृष्टता के पाँच केंद्र जैव ईंधन , बायो हाइड्रोजन और बायो जेट जैसे उन्नत जैव ईंधन पर अनुसंधान कार्य कर रहे हैं । 

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना ( PMUY ) ; 

खाना पकाने की दिशा में स्वच्छ ईंधन की आपूर्ति की दिशा में यह दुनिया की सबसे बड़ी योजना है जिसको वर्ष 2016 में लॉन्च किया गया था । एलपीजी योजना के तहत प्रत्यक्ष लाभ अंतरण को पहल ( PAHAL ) योजना के रूप में भी जाना जाता है । 

इंडिया कूलिंग एक्शन प्लान : INDIA COOLING ACTION PLAN

MoEFCC द्वारा मार्च 2019 में ‘ इंडिया कूलिंग एक्शन प्लान ‘ ( ICAP ) को शुरू किया गया था । ICAP के तहत अगले 20 वर्ष में स्थायी शीतलन हेतु आवश्यक कार्रवाई को दर्शाया गया है । भारत दुनिया का ऐसा पहला देश है जिसने अपना कूलिंग एक्शन प्लान जारी किया है । – 

अन्य पहल : 

मिशन इनोवेशन पहल के लक्ष्यों के अनुरूप SATAT ( स्थायी वैकल्पिक वहन योग्य परिवहन की ओर ) , परिवर्तनकारी गतिशीलता और बैटरी संग्रहण पर राष्ट्रीय मिशन ( National Mission on Transformative Mobility and Battery Storage ) , आत्मनिर्भर भारत मिशन , कुसुम योजना , नेट – मीटरिंग नीतियाँ आदि अन्य महत्त्वपूर्ण पहल हैं । 

तो दोस्तों अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो हमें कमेंट करके जरुर बतायें , और इसे शेयर भी जरुर करें।

औरजानिये। Aurjaniye

For More Information please follow Aurjaniy.com and also follow us on Facebook Aurjaniye | Instagram Aurjaniyeand Youtube  Aurjaniye with rd

 

RELATED POSTS:-

सागरमाला परियोजना 

15th Finance commissions recomandations hindi

India Innovation Index 2021

Clean Source of Energy hydrogen IIT Delhi

Corona Vaccine Policy Of India most important Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *